have faith in me and in my blog ....and.... i m sure u'll then start appreciating nature and small small things around yourself!!! so, FEEL FREE TO SUBSCRIBE & ENJOY!!!

Tuesday, June 19, 2012

maa kee 24 vin punya tithi men



आज  माँ  की  याद   ने  फिर  एक   नजरिया  दे  दिया . धापी बाई  सांखला  मेरी  माँ  कर्नावट  खानदान  से  थी .

              ख़ुशी  में  हर  अपने
              साथ  होना  चाहते  हैं
              न  बुलाने  पर
              नाराज़ हो  जाते  हैं .

                                                 गम  में  आने  से
                                                  कतराते  हैं
                                                  न  आने  के  हज़ार
                                                  बहाने  बनाते  हैं .

      माँ  आज  भी  सीख  दे  गई
      चलने  के लिए  कारंवा  की  नहीं
      हवसले    की  ज़रूरत  होती  है
      और  मैं  अकेला  चल  पड़ा .

No comments: