have faith in me and in my blog ....and.... i m sure u'll then start appreciating nature and small small things around yourself!!! so, FEEL FREE TO SUBSCRIBE & ENJOY!!!

Friday, July 22, 2011

मुकेश

मुकेश कोई शब्द नहीं
अनुभूति है , दर्द की
वो गीत ही क्या
जिसमे कशिश नहीं
वो आवाज़ ही क्या
जो मुकेश की नहीं ।

------मुकेश मेरा प्रिय गायक है । मुकेश की आवाज़ से मुझे आत्मीय खुशी मिलती है। मुकेश के गाने के बोल जीवन दर्शन के साथ प्रकृति की सुन्दरता को भी बयां करती है ----
१। सब कुछ सीखा हमने ना सीखी होशियारी सच है दुनिया वालों हम है अनाड़ी
२ हम उस देश के वासी है जिस देश में गंगा बहती है
३ ये कौन चित्र कार है
४ भूली हुई यादों मुझे इतना ना सतायो अब चैन से रहने दो मेरे पास ना आओ

No comments: