have faith in me and in my blog ....and.... i m sure u'll then start appreciating nature and small small things around yourself!!! so, FEEL FREE TO SUBSCRIBE & ENJOY!!!

Wednesday, October 6, 2010

अपरिग्रह

जैन दर्शन में अपरिग्रह का बहुत महत्व है । त्याग से इसका सीधा सम्बन्ध है । मैंने इसे इस प्रकार से परिभाषित किया है ---


अपरिग्रह
++++++++++++++

जो चीज अपनी नहीं , उसका मोह कैसे

1 comment:

ali said...

हम भी अपरिग्रह पर लंबी लंबी चर्चा करते आये हैं पर आपनें इसे बहुत सहजता से समझाया !