have faith in me and in my blog ....and.... i m sure u'll then start appreciating nature and small small things around yourself!!! so, FEEL FREE TO SUBSCRIBE & ENJOY!!!

Monday, September 6, 2010

हिरन



जंगल की सन्नाटा में
चारों ओर खामोशी है ,
खामोशी को चीरती
हिरन की उपस्थिति ,
बयां कर रही है ,
चंचलता -
जंगल की ।


( देशाटन ने ही मुझे बहुत सी सीख दी है । हिरन का यह चित्र मेरे द्वारा २५.६.२०१० को बांधवगढ़ नेशनल पार्क में , जो मध्य प्रदेश मे उमरिया जिले मे है ,लिया है । )

1 comment:

ali said...

गोया हलचल धूप से बचने की कोशिश में ठहर सी गयी हो !
सुन्दर चित्र ! सुन्दर भाव !