have faith in me and in my blog ....and.... i m sure u'll then start appreciating nature and small small things around yourself!!! so, FEEL FREE TO SUBSCRIBE & ENJOY!!!

Sunday, May 8, 2011

माँ -दिवस






माँ दिवस --यदि हम धरती को लपेटकर कागज़ की तरह उपयोग कर माँ के बारे में अपना भाव व्यक्त करना चाहें तो - भी ,भाव शेष रह जायेंगे ।

3 comments:

संगीता पुरी said...

सुंदर प्रस्‍तुति !!

ali said...

सांखला जी ये अच्छी पोस्ट है शायद इस पर मैंने टिप्पणी दी थी पहले कभी !
क्या आपने ब्लाग में कुछ बदलाव किये हैं ?

Anonymous said...

wah kya behtreen kavita likhte hai aap!!!