have faith in me and in my blog ....and.... i m sure u'll then start appreciating nature and small small things around yourself!!! so, FEEL FREE TO SUBSCRIBE & ENJOY!!!

Friday, February 5, 2010

प्रकृति

विधाता का
सुन्दर सृजन है -
प्रकृति।
प्रकृति की उपहार है -
माँ॥
माँ ही प्रकृति है ,
प्रकृति ही माँ ॥

2 comments:

Anonymous said...

very nice!

ali said...

आपकी भावनाओं के लिए शुभेच्छाएं !





( टिप्पणी माडरेशन रखिये किन्तु शब्द पुष्टिकरण हटा दीजिये ,टिप्पणी पोस्टिंग में असुविधा होती है )